पुरुलिया: जरूरतमंद एवं वंचित महिलाओं को स्वाबलंबी करने के लक्ष्य को लेकर गैर सरकारी संगठन रेवा इन दिनों महिलाओं के लिए एक वरदान साबित हो रहा है। रेवा द्वारा इन दिनों पुरुलिया जिले के वंचित तथा पिछड़े महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लक्ष्य को लेकर कई तरह के कार्य आरंभ किए हैं। कुछ दिन पहले ही संगठन द्वारा पुरुलिया जिले में पहली बार महिला परिचालित ई रिक्शा परियोजना भी आरंभ की है। इसके तहत एक गरीब महिला को स्वावलंबी बनाने के लक्ष्य को लेकर उन्हें प्रशिक्षण देने के बाद ई रिक्शा प्रदान किया गया ताकि वह ई रिक्शा से आमदनी कर अपने परिवार का भरण पोषण करने के साथ-साथ अपने लिए आरामदायक जीवन बिता सके। सोमवार संगठन द्वारा जरूरतमंद महिलाओं तथा वंचित महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लक्ष्य को लेकर एक कदम आगे बढ़कर रेवा 4 महिलाओं को फूड पुशकार्ट प्रदान किए। संगठन के क्षेत्रीय निर्देशक रूबी सुल्तानिया ने बताया महिलाओं को स्वावलंबी करना रेवा का मुख्य लक्ष्य है। इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए रेवा द्वारा महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लक्ष्य को लेकर कई तरह के कार्य किए जा रहे हैं इस दौरान पुरुलिया में महिला द्वारा चालित ई रिक्शा पर सेवा भी आरंभ किया गया है और अब महिलाओं को स्वावलंबी करने के लक्ष्य को लेकर फूड शुभकार्ट परी सेवा का आरंभ किया जा रहा है। सोमवार पुरुलिया शहर में 4 फुट सूपकार्ट का उद्घाटन किया गया है। इन फूड पुशकार्ट में महिलाएं सब्जी बेचने के साथ साथ तरह-तरह के पकवान भी बेचेंगे इसके लिए इन महिलाओं को यह  सूटकार्ट प्रदान किया गया है। इसमें पुरुलिया शहरवासी को वड़ापाव समोसा पाव भाजी इटली चाऊमीन मोमो जैसे नाश्ता के मनोरंजन प्राप्त होंगे। साथ साथ शहरवासी इन पुशकार्ट पर ताजे सब्जी भी अपने घर के सामने प्राप्त करेंगे। जहां शहरवासी को शुद्ध नाश्ता मिलेगी वहीं शुद्ध एवं ताजे सब्जी भी शहरवासी प्राप्त करेंगे। नाश्ता हो या सब्जी इनका मूल्य बाजार के अन्य सामानों की तरह ही साधारण रखा गया है। इन दिनों शहर के मुख्य स्थानों पर यह 4 फूड  पुशकार्ट सेवा प्रदान की जा रही है आने वाले दिनों में संगठन की ओर से पुरुलिया शहर के 20 वार्ड में यह परीसेवा आरंभ करने की कोशिश कर रही है संगठन। उन्होंने बताया संगठन की ओर से 21 मार्च 2016 को पहली बार 1 फुट पुशकार्ट की आरंभ शहर में की गई थी इसकी सफलता को देखते हुए ही अब संगठन में और भी कई फूड पुशकार्ट परियोजना शहर में आरंभ की है आने वाले दिनों में पूरे शहर में यह परियोजना लागू की जाएगी। संगठन के लक्ष्य पिछड़े एवं वंचित महिलाओं की सहायता प्रदान करना तथा उन्हें स्वावलंबी करना ताकि वे अपने कमाई से अपने परिवार कि भरण पोषण के साथ-साथ अपने बच्चों को अच्छी तालीम प्रदान कर सके। इस दिन इस परियोजना के तहत फुड पुशकार्ट व्यापक महिलाओं ने बताया जिस तरह से गैर सरकारी संगठन रेवा ने हम लोगों की सहायता में आगे आई है हम लोगों को उम्मीद है हम इस परियोजना के तहत अच्छी कमाई कर अपने परिवार का भरण पोषण करेंगे एवं अपने बच्चों को अच्छी तालीम दे पाएंगे।

একটি মন্তব্য পোস্ট করুন

Blogger দ্বারা পরিচালিত.